Hanuman Shabar Mantra | शक्तिशाली पंचमुखी हनुमान शाबर मंत्र संग्रह

Hanuman Mantra: हिंदू धर्म में हनुमान जी को संकट मोचन कहा गया है। अर्थात हर संकट को हरने वाले हनुमान। वैसे तो हनुमान जी की कृपा पाने और सभी कष्टों से मुक्ति पाने के लिए हनुमान चालीसा सर्वोत्तम मानी जाती है, लेकिन आज हम आपको एक ऐसे मंत्र के बारे में बताने जा रहे हैं जो सर्वोपरि है और जिसका प्रभाव सर्वशक्तिमान है।

जिसमे शाबर मंत्र भारतीय लोक परंपराओं में सब से प्रशिद मंत्र है। हनुमान जी के शाबर मंत्र, जो कार्य की सफलता और सिद्धि में सहायक होते हैं। इस मंत्र का प्रयोग श्रद्धा और विश्वास के साथ किया जाता है।

शाबर मंत्रों का अध्ययन किसी अनुभवी गुरु के मार्गदर्शन में करना चाहिए। मंत्रों का जाप भगवान के साथ गहरा संबंध बनाने में मदद करता है। इसके अतिरिक्त, निरंतरता, विश्वास और भक्ति पर जोर देने वाली आध्यात्मिक अभ्यास भी महत्वपूर्ण है।

यदि आप हनुमान शाबर मंत्र संग्रह ढूंढ रहे है, तो आप को इस लेख में दिए गए पावरफुल हनुमान मंत्र का जाप कर सकते है ।

Table of Contents

हनुमान शाबर मंत्र: Hanuman Shabar Mantra


हनुमान शाबर मंत्र: 1

ओम गुरुजी को आदेश गुरजी को प्रणाम, धरती माता धरती पिता, धरती धरे ना धीरबाजे श्रींगी बाजे तुरतुरि आया गोरखनाथमीन का पुत् मुंज का छड़ा लोहे का कड़ा हमारी पीठ पीछे यति हनुमंत खड़ा, शब्द सांचा पिंड काचास्फुरो मंत्र ईश्वरो वाचा।।


हनुमान शाबर मंत्र: 2

बिस्तर के आस-पास। हवेली के आस-पास। छप्पन सौ यादव। लंका-सी कोट, समुद्र-सी खाई। राजा रामचंद्र की दुहाई।


हनुमान शाबर मंत्र: 3

॥ ॐ नमो आदेश गुरु को, सोने का कड़ा, तांबे का कड़ा हनुमान वन्गारेय सजे मोंढे आन खड़ा ॥

ॐ नमो बजर का कोठा, जिस पर पिंड हमारा पेठा। ईश्वर कुंजी ब्रह्म का ताला, हमारे आठो आमो का जती हनुमंत रखवाला।


हनुमान शाबर मंत्र: 4

श्री हनुमान जंजीरा मंत्र

ॐ हनुमान पहलवान पहलवान, बरस बारह का जबान, हाथ में लड्‍डू मुख में पान, खेल खेल गढ़ लंका के चौगान अंजनी का पूत, राम का दूत, छिन में कीलौनौ खंड का भू‍त, जाग जाग हड़मान (हनुमान) हुंकाला, ताती लोहा लंकाला, शीश जटाडग डेरू उमर गाजे, वज्र की कोठड़ी ब्रज का ताला आगे अर्जुन पीछे भीम, चोर नार चंपे ने सींण, अजरा झरे भरया भरे, ई घट पिंड की रक्षा राजा रामचंद्र जी लक्ष्मण कुंवर हड़मान (हनुमान) करें।


हनुमान शाबर मंत्र: 5

हनुमान साबर अढाईआ मंत्र

ॐ पीर बजरंगी, राम-लखन के संगी, जहां-जहां जाय,
विजय के डंके बजाय, दुहाई माता अंजनी की आन।

हनुमान बीज मंत्र


ॐ हं हनुमते नमः

शक्तिशाली हनुमान मंत्र


ॐ हं हनुमते रुद्रात्मकाय हुं फट्

पंचमुखी हनुमान शाबर मंत्र: Panchmukhi Hanuman Mantra


ॐ दक्षिणमुखाय पच्चमुख हनुमते कराल बदनाय नारसिंहाय, वज्रदेहाय वज्रनखाय वज्रसुखाय वज्ररोम्णे वज्रनेत्राय वज्रदंताय वज्रकराय वज्र भक्ताय रामदूताय ॐ ह्रां ह्रीं हूं ह्रीं हः सकल भूतप्रेतदमनाय स्वाहा, ओम हं  हनुमते रुद्रात्मकाय हूँ फट।

गुप्त हनुमान शाबर मंत्र: Hanuman Mantra Lyrics


ॐ हनुमान पहलवान । वर्ष बारह का जवान ।।
हाथ में लड्डू मुख में पान। आओ-आओ बाबा हनुमान ॥
न आओ तो दुहाई महादेव- गौरा पार्वती की ॥
शब्द सांचा पिण्ड कांचा । फुरे मन्त्र ईश्वरो वाचा ॥

सर्व कार्य सिद्धि हनुमान शाबर मंत्र


ॐ पीर बजरंगी राम लक्ष्मण के संगी जहां जहां जाय फतेह के डंके बजाय माता अंजनी की आन |

ओम पीर बजरंगी राम लक्ष्मण के संगी जहां जहां जाए फतेह के धनके बजय दुहाई माता अंजनी की आन।

शत्रु नाशक हनुमान शाबर मंत्र: Powerful Hanuman Mantra


ॐ पूर्व कपि मुखाय पंचमुख हनुमते टं टं टं टं टं सकल शत्रु संहारणाय स्वाहा

तेज रूप पंचमुखी हनुमान मंत्र: Tej Roop Panchmukhi Hanuman Mantra


ॐ दक्षिणमुखाय पञ्चमुखिहनुमते करालवदनाय नरसिंहाय
ह्रां, ह्रां, ह्रां, ह्रां, ह्रां सकलभूतप्रेतदमनाय स्वाहा ।

राम बाण शाबर मंत्र


उत्तर बांधों, दक्षिण बांधों, बांधों मरी मसानी,
नजर-गुजर देह बांधों रामदुहाई फेरों शब्द शाचा,
पिंड काचा फुरो मंत्र ईश्वरों बाचा।

स्वयं सिद्ध हनुमान शाबर मंत्र: Hanuman Mantra In Hindi


ऊँ ऐं श्रीं ह्रीं ह्रीं हं ह्रौं ह्रः ऊँ नमो भगवते महाबल पराक्रमाय भूत-प्रेत-पिशाच ब्रह्म राक्षस शाकिनी डाकिनी यक्षिणी पूतना मारी महामारी राक्षस भैरव बेताल ग्रह राक्षसादिकान् क्षणेन हन हन,भंजय भंजय मारय मारय,क्षय शिक्षय महा महेश्वर रुद्रावतार ऊँ हुम् फट स्वाहा 

ऊँ नमो भगवते हनुमदाख्याय रुद्राय सर्व दुष्टजन मुख स्तम्भनं कुरु स्वाहा ऊँ ह्रीं ह्रीं हं ह्रौं ह्रः ऊँ ठं ठं ठं फट् स्वाहा.

ॐ हनुमान पहलवान मंत्र


ॐ हनुमान पहलवान । वर्ष बारह का जवान ।।

हाथ में लड्डू मुख में पान। आओ-आओ बाबा हनुमान ॥

न आओ तो दुहाई महादेव- गौरा पार्वती की ॥

शब्द सांचा पिण्ड कांचा । फुरे मन्त्र ईश्वरो वाचा ॥

व्यापार वृद्धि हनुमान शाबर मंत्र: Karya Siddhi Hanuman Mantra


त्वमस्मिन कार्य नियोगे प्रमाणिक हरिसत्तमा |

हनुमान यात्नमास्ता दु: ख क्ष्य करोभाव ||

मनोकामना पूर्ण हनुमान मंत्र: Success Hanuman Mantra


ॐ महाबलाय वीराय चिरंजिवीन उद्दते. हारिणे वज्र देहाय चोलंग्घितमहाव्यये। नमो हनुमते आवेशाय आवेशाय स्वाहा।

हनुमान जी को बुलाने का मंत्र


|| ॐ ऐं भ्रीम हनुमते, श्री राम दूताय नम: ||

Hanuman Mantra For Health


नासै रोग हरे सब पीरा, जपत निरंतर हनुमत बीरा

Hanuman Mantra For Bad Dreams


हनुमन्नंजनी सुनो वायुपुत्र महाबल: अकस्मादागतोत्पांत नाशयाशु नमोस्तुते।

हनुमान शाबर मंत्र कैसे सिद्ध करें


हनुमान जी के शाबर मंत्र को सिद्ध करने के लिए आपको किसी योग्य गुरुदेव से दीक्षा लेनी चाहिए। गुरुदेव के मार्गदर्शन में मंत्र का जाप रुद्राक्ष, मूंगा या लाल चंदन की माला से करना चाहिए। इस प्रक्रिया से मंत्र सिद्ध करने में मदद मिलेगी.

Photo by  Tester on Unsplash

हनुमान मंत्र का जाप कैसे करें?


हनुमान मंत्र कई प्रकार के होते हैं और उनमें से प्रत्येक का एक समर्पित समय और दिन होता है जब आपको उनका पाठ करना चाहिए। हालाँकि, सामान्य तौर पर, हनुमान मंत्र का पाठ करते समय क्या करें और क्या न करें पर विचार करना चाहिए।

  • हनुमान मंत्र का जाप करने के लिए सबसे उपयुक्त दिन मंगलवार और शनिवार है। हालाँकि, कुछ हनुमान मंत्रों का जाप अन्य दिनों में भी किया जा सकता है।
  • सबसे पहले सुबह जल्दी उठकर स्नान कर लें।
  • अपने सामने हनुमान जी की मूर्ति रखें और पूर्व दिशा की ओर मुख करके बैठें।
  • बेहतर तरीके से मंत्र जाप और ध्यान करने के लिए आपको ताजे फूल और अगरबत्ती का इस्तेमाल करना चाहिए।
  • हनुमान शाबर मंत्र का 5, 7 या 11 बार जाप करें।
  • संभव हो तो हनुमान शाबर मंत्र की एक माला भी करें।
  • हनुमान मंत्र का जाप करते समय अपने पास जल का पात्र और कुमकुम रखना भी शुभ माना जाता है।
  • मंत्र जाप करते समय मन में किसी भी प्रकार का विचार न आने दें, जिससे ध्यान करने में कोई बाधा न आए।
  • हनुमान जी की पूजा करते समय उन्हें नारियल, गुड़-चने का प्रसाद या इमरती चढ़ाएं।

हनुमान मंत्र के लाभ


१. ज्योतिषियों के अनुसार, भगवान हनुमान शक्ति और साहस के स्रोत हैं इसलिए हनुमान मंत्र का जाप आपको परेशानियों और समस्याओं को दूर करने के लिए मानसिक और शारीरिक दोनों शक्ति प्रदान कर सकता है।

२. हनुमान मंत्र आपको परिस्थितियों के प्रति लचीला बनाता है, इसलिए जब आप नियमित रूप से इस मंत्र का जाप करते हैं, तो संभावना बढ़ जाती है कि आप सबसे कठिन परिस्थितियों से भी निपटने में सफल होंगे।

३. हनुमान मंत्रों का जाप स्वास्थ्य संबंधी समस्याओं, विशेषकर अवसाद और तनाव से संबंधित समस्याओं से राहत दिलाने में मदद करता है।

४. यह सच है कि हनुमान मंत्र का जाप व्यक्ति को उसके आसपास मौजूद बुरी आत्माओं या भूत-प्रेतों के प्रभाव से बचाने में मदद करता है।

५. कई खिलाड़ी अपनी किसी भी प्रतियोगिता से पहले हनुमान मंत्र या हनुमान चालीसा का पाठ करने का दावा करते हैं। हनुमान मंत्र उन्हें अपने प्रयास में बेहतर करने के लिए आवश्यक सहनशक्ति, साहस और शक्ति प्रदान करता है।

६. भगवान हनुमान न केवल शारीरिक बल्कि मानसिक शक्ति भी प्रदान करते हैं। ज्योतिषियों के अनुसार, हनुमान मंत्र का जाप करने से व्यक्ति को जीवन के सभी पहलुओं में सही निर्णय लेने में मदद मिल सकती है।

७. हनुमान मंत्र का जाप करने से कर्ज या असफल विवाह की समस्या भी दूर हो सकती है। हनुमान मंत्र आपको आवश्यक सकारात्मक ऊर्जा प्रदान करता है ताकि आप अपने जीवन में ऐसी समस्याओं को दूर कर सकें।

८. हनुमान मंत्र आपके शरीर, मन और आत्मा को नकारात्मक प्रभावों से शुद्ध करते हैं। यह आपके जीवन को पवित्र और बुरे प्रभावों से मुक्त बनाता है।

९. जहां कई लोग खुद को बुरी नजर से बचाने के लिए मंत्रों का जाप करते हैं, वहीं हनुमान मंत्र का साधारण जाप भी आपको बुरी नजर से बचा सकता है। आप इसे नजर उतारने का हनुमान मंत्र भी कह सकते है। 

१०. अगर आप नियमित रूप से हनुमान मंत्र का जाप करते हैं तो आप लंबे समय तक काम कर पाते हैं और आपको नए-नए विचार आने लगते हैं।

चेतावनी: हनुमानजी के साबर मंत्र को पढ़ने या जपने के कुछ नियम हैं, जिन्हें जानने से पहले आपको ये जान लेना चाहिए। साबर मंत्रों को स्वयंसिद्ध माना गया है। इससे संबंधित देवी या देवता जागृत हो जाते हैं।


FAQ

1. हनुमान शाबर मंत्र क्या है?

हनुमान शाबर मंत्र भगवान हनुमान की शक्ति और साहस का आह्वान करने के लिए इस्तेमाल किए जाने वाले मंत्रों का समूह है। इन मंत्रों का जाप करने से शक्ति, साहस, आत्मविश्वास और बुद्धि प्राप्त होती है।

2. हनुमान शाबर मंत्र का महत्व क्या है?

हनुमान शाबर मंत्र का महत्व निम्नलिखित है:
भगवान हनुमान का आशीर्वाद प्राप्त करना: इन मंत्रों का जाप करने से भगवान हनुमान प्रसन्न होते हैं और अपना आशीर्वाद देते हैं।
शक्ति और साहस प्राप्त करना: हनुमान शाबर मंत्र शक्ति और साहस प्रदान करते हैं और डर और आत्म-संदेह को दूर करने में मदद करते हैं।
आत्मविश्वास बढ़ाना: इन मंत्रों का जाप करने से आत्मविश्वास बढ़ता है और जीवन में सफलता प्राप्त करने में मदद मिलती है।
बुद्धि प्राप्त करना: हनुमान शाबर मंत्र बुद्धि और विवेक प्रदान करते हैं और जीवन में सही निर्णय लेने में मदद करते हैं।
कष्टों से रक्षा: इन मंत्रों का जाप करने से बुरी आत्माओं और नकारात्मक ऊर्जाओं से रक्षा होती है।

3. हनुमान शाबर मंत्र कब करना चाहिए?

हनुमान शाबर मंत्र किसी भी समय किया जा सकता है, लेकिन मंगलवार, शनिवार और रविवार को इनका जाप करना विशेष रूप से लाभकारी होता है।

4. हनुमान शाबर मंत्र कैसे करें?

हनुमान शाबर मंत्र करने की विधि निम्नलिखित है:
स्नान करें और स्वच्छ वस्त्र पहनें।
पूजा स्थान को साफ करें और सजाएं।
भगवान हनुमान की प्रतिमा या मूर्ति स्थापित करें।
दीप प्रज्वलित करें और धूप जलाएं।
फूल, फल, मिठाई और अन्य भोग अर्पित करें।
हनुमान शाबर मंत्र का जाप करें।
भगवान हनुमान को नमस्कार करें।
प्रार्थना करें।

5. हनुमान शाबर मंत्र के लिए कौन से मंत्र प्रसिद्ध हैं?

हनुमान शाबर मंत्र के लिए कुछ प्रसिद्ध मंत्र हैं:
ॐ जय श्री हनुमान: यह सबसे सरल और शक्तिशाली हनुमान मंत्रों में से एक है।
ॐ हनुमान बल बिराय: यह मंत्र शक्ति और साहस प्रदान करता है।
ॐ श्री हनुमते नमः: यह मंत्र भगवान हनुमान की स्तुति करता है।
ॐ बजरंग बली हनुमान: यह मंत्र बुरी आत्माओं और नकारात्मक ऊर्जाओं से रक्षा करता है।
ॐ हनुमान चालीसा: यह भगवान हनुमान की 40 चौपाइयों का संग्रह है।

6. हनुमान शाबर मंत्र का जाप करते समय क्या ध्यान रखना चाहिए?

हनुमान शाबर मंत्र का जाप करते समय निम्नलिखित बातों का ध्यान रखना चाहिए:
मंत्र का जाप शुद्ध मन और भक्ति भाव से करें।
मंत्र का उच्चारण स्पष्ट और धीरे-धीरे करें।
मंत्र का जाप करते समय ध्यान केंद्रित करें।
विचलित होने से बचें।
नियमित रूप से अभ्यास करें।

7. क्या हनुमान शाबर मंत्र का कोई दुष्प्रभाव होता है?

हनुमान शाबर मंत्र का कोई दुष्प्रभाव नहीं होता है।
यह मंत्र पूरी तरह से सुरक्षित और लाभकारी है।
इसका जाप करने से आपको शक्ति, साहस, आत्मविश्वास और बुद्धि प्राप्त होगी।

8. क्या मैं हनुमान शाबर मंत्र का जाप घर पर कर सकता हूँ?

बिल्कुल! हनुमान शाबर मंत्र का जाप करने के लिए आपको किसी मंदिर जाने की आवश्यकता नहीं है। आप इसे आराम से अपने घर पर कर सकते हैं।
वास्तव में, घर पर मंत्र जप करने के कई फायदे हैं, जैसे:
शांत वातावरण: आप अपने परिवेश को नियंत्रित कर सकते हैं और एक शांत और आरामदायक जगह चुन सकते हैं जहाँ आपको विचलित न होना पड़े।
आपकी सुविधा: आप अपने अनुसार समय और अवधि निर्धारित कर सकते हैं।
भक्ति का भाव: घर पर पूजा करने से आप अधिक व्यक्तिगत और आत्मिक जुड़ाव महसूस कर सकते हैं।
यदि आप घर पर हनुमान शाबर मंत्र का जाप करना चाहते हैं, तो आप ये सरल steps अपना सकते हैं:
स्नान करें और स्वच्छ वस्त्र पहनें।
पूजा करने के लिए एक साफ जगह चुनें।
आप चाहें तो एक आसन या चटाई बिछा सकते हैं।
भगवान हनुमान की एक तस्वीर या मूर्ति रखें (वैकल्पिक)।
दीपक जलाएं और अगरबत्ती जलाएं (वैकल्पिक)।
अपने चुने हुए हनुमान शाबर मंत्र का जाप करें।
आप जप mala का उपयोग भी कर सकते हैं (वैकल्पिक)।
मंत्र का जाप करते समय ध्यान केंद्रित करें और भगवान हनुमान की शक्ति और साहस का ध्यान करें।
कुछ देर शांत बैठें और अनुभव का आनंद लें।
यदि आप अभी शुरुआत कर रहे हैं, तो आप कुछ मिनटों से शुरू कर सकते हैं और धीरे-धीरे समय बढ़ा सकते हैं। नियमित अभ्यास से आपको अधिकतम लाभ मिलेगा।

9. हनुमान शाबर मंत्र का जाप करने से पहले क्या कोई खास तैयारी करनी चाहिए?

हनुमान शाबर मंत्र का जाप करने से पहले कोई जटिल तैयारी की आवश्यकता नहीं है। लेकिन, कुछ सरल चीजें हैं जिन्हें आप करना चाह सकते हैं:
स्नान करना और स्वच्छ वस्त्र पहनना हमेशा अच्छा होता है, क्योंकि यह आपको शारीरिक और मानसिक रूप से शुद्ध महसूस कराता है।
पूजा करने के लिए एक शांत और साफ जगह चुनें। इससे आपको ध्यान केंद्रित करने और विचलित न होने में मदद मिलेगी।
आप अपने मन को शांत करने के लिए कुछ मिनटों के लिए ध्यान लगा सकते हैं।
यदि आप चाहते हैं, तो आप हनुमान चालीसा या भगवान हनुमान के भजन सुन सकते हैं।
हालांकि, ये सिर्फ सुझाव हैं। आप अपनी सहजता के अनुसार तैयारी कर सकते हैं। सबसे महत्वपूर्ण बात यह है कि आप भगवान हनुमान के प्रति श्रद्धा और सम्मान रखते हैं।

10. क्या हनुमान शाबर मंत्र का जाप करने के कोई नियम हैं?

हनुमान शाबर मंत्र का जाप करने के लिए कोई सख्त नियम नहीं हैं। आप अपनी सुविधा के अनुसार जप कर सकते हैं। हालांकि, कुछ सुझाव हैं जो आपके अभ्यास को अधिक प्रभावी बना सकते हैं:
मंत्र का उच्चारण स्पष्ट और धीरे-धीरे करें।
मंत्र का अर्थ समझने का प्रयास करें और उस पर ध्यान केंद्रित करें।
विचलित होने से बचें और अपना ध्यान मंत्र पर बनाए रखें।
नियमित रूप से अभ्यास करें। जितना अधिक आप अभ्यास करेंगे, उतना ही अधिक लाभ आपको प्राप्त होगा।